भगोड़ा हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी का गंदा खेल विदेशों में भी जारी, नया खुलासा

पंजाब नेशनल बैंक का साढ़े 1300 करोड़ रूपये का गोलमाल का देश से फरार हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी का गंदा खेल विदेशों में भी जारी है. उसकी गिरफ्तारी ने कई नए राज खोले हैं.
 
Mehul chauksi
पंजाब नेशनल बैंक का साढ़े 1300 करोड़ रूपये का गोलमाल का देश से फरार हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी का गंदा खेल विदेशों में भी जारी है. उसकी गिरफ्तारी ने कई नए राज खोले हैं. कैरेबियाई द्वीप राष्ट्र डोमिनिका के समाचार पत्र आउटलेट- एसोसिएट टाइम्स की एक रिपोर्ट ने चोकसी से जुड़े कई रहस्य खोले हैं.
 
रिपोर्ट में किए गए दावे के अनुसार, भारत के भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के बड़े भाई चेतन चीनू भाई चोकसी ने डोमिनिका के नेता प्रतिपक्ष लेनोक्स लिंटन से मुलाकात की थी. दोनों के बीच यह समझौता हुआ था कि टोकन धन और चुनावी चंदे के वादे के बदले विपक्षी नेता संसद में चोकसी के मामले को उठाएंगे.
 
समाचार आउटलेट ने यह भी दावा किया कि चेतन 29 मई को एक निजी जेट से डोमिनिका आया था. अगले दिन मैरीगोट में लिंटन से मिला था.एसोसिएट टाइम्स ने दावा किया कि लिंटन के घर पर दोनों के बीच लंबी बैठक चली, जहां उन्होंने चोकसी की गिरफ्तारी से संबंधित कई पहलुओं पर चर्चा की. 
 
रिपोर्ट की मानें तो दोनों के बीच समझौता हुआ कि टोकन धन और चुनावी चंदे के वादे के बदले में विपक्षी नेता दबाव बनाने के लिए संसद में चोकसी से जुड़ा मामला उठाएंगे.रिपोर्ट में कहा गया है कि चोकसी के भाई ने डोमिनिकन विपक्षी नेता के साथ एक समझौता किया और अपहरण सिद्धांत को आगे बढ़ाने के लिए चुनावी फंडिंग का वादा किया. यानी अपहरण का मात्र ढोंग था.
 
समाचार आउटलेट ने यह भी दावा किया कि चेतन ने बातचीत के दौरान खुलासा किया कि चोकसी अपने दम पर डोमिनिका पहुंचा था, लेकिन उन्हें अदालत में मामले से निपटने के लिए विपक्ष की सहायता की आवश्यकता थी. डोमिनिका सरकार को उन्हें यह विश्वास दिलाने की जरूरत थी कि एक एंटीगा निवासी और भारतीय पुलिस ने उसका अपहरण किया था.
 
चोकसी, जो 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ऋण धोखाधड़ी मामले में भारत में वांछित है, 23 मई को एंटीगा से लापता हो गया था. बाद में उसे 27 मई को डोमिनिका में पकड़ा गया था.
 
डोमिनिका की एक अदालत ने चोकसी के वकीलों द्वारा दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण पर सुनवाई करते हुए अगले आदेश तक उसके निर्वासन पर रोक लगा दी है. इस मामले की सुनवाई बुधवार को होगी.इससे पहले, एंटीगा और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन और द्वीप राष्ट्र में प्रमुख विपक्षी दल-यूपीपी चोकसी को भारत वापस भेजने के मुद्दे पर एक दूसरे के खिलाफ अड़ गए हैं.
 
चोकसी पीएनबी ऋण धोखाधड़ी मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा वांछित है. सीबीआई, ईडी, विदेश मंत्रालय और सीआरपीएफ की आठ सदस्यीय टीम शनिवार से डोमिनिका में डेरा डाले हुए है. चोकसी के मामले से जुड़े दस्तावेजों के साथ टीम वहां मौजूद है.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|