डोमिनिका में अवैध एंट्री के मामले में मेहुल चौकसी की जमानत याचिका कोर्ट ने की खारिज

भगौड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चैकसी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। डेमिनिका की मजिस्ट्रेट कोर्ट ने मेहुल की जमानत अर्जी खारिज कर दी है।
 
Mehul chauksi

भगौड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चैकसी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। डेमिनिका की मजिस्ट्रेट कोर्ट ने मेहुल की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। चौकसी की ओर से दाखिल की गई याचिका में कहा गया था कि उसे अगवा कर जबदस्ती इस देश में लाया गया है। मजिस्ट्रेट कोर्ट के इस फैसले के बाद अब चौकसी ऊपरी अदालत का रुख करेंगे। 

बता दें कि चौकसी के मामले में अगली सुनवाई 14 जून हो होगी। इससे पहले डेमिनिक के हाई कोर्ट ने आदेश दिया था कि मेहुल को अपने अवैध प्रवेश का जवाब मजिस्ट्रेट कोर्ट में देना होता और इसकी सुनवाई  निचली अदालत में होगी। 

प्रत्यर्पण को लेकर सुनवाई आज

भारत छोड़कर जाने से पहले मेहुल चौकसी के ऊपर 13 हजार करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का आरोप है। मेहुल भव यह धोखाधड़ी पंजाब नेशनल बैंक के साथ की है। तो इससे संबंधित प्रत्यर्पण के मामले में डोमिनिक की हाई कोर्ट में आज सुनवाई होने वाली है।

उल्लेखनीय है कि मेहुल चौकसी 2018 से एंटीगा एंड बारबुडा में नागरिक के रूप में रह रहा है। 23 मई को मेहुल वहां से रहस्यमय तरीके से गायब हो गया था। इसके बाद 26 मई को उसे डेमिनिका से गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि वह अपनी गर्लफ्रैंड के साथ उस कैरीबियाई महाद्वीप पर पहुंचा था। 

उधर एंटीगा एंड बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन साफ तौर पर कह चुके है कि कानून प्रवर्तन एजेंसियां मेहुल को भारत भेज सकती है, लेकिन उसके पहले कानूनी प्रक्रिया पूरी करनी होगी। 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|